Assam Mein Kitne Airport Hai 2023? पूरा लिस्ट देखिए

Assam Mein Kitne Airport Hai? आइए इस प्रश्न से संबंधित और भी जानकारी देते हैं. असम, भारत के उत्तरपूर्वी भाग में स्थित एक राज्य है, जो अपने हरे-भरे चाय के बागानों, वन्यजीव अभयारण्यों और आश्चर्यजनक परिदृश्यों के लिए जाना जाता है। इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि पिछले कुछ वर्षों में असम की यात्रा तेजी से लोकप्रिय हुई है। 

गोपीनाथ बोरदोलोई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा गुवाहाटी
गोपीनाथ बोरदोलोई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा गुवाहाटी

लेकिन यात्रियों के लिए एक महत्वपूर्ण सवाल यह है कि असम में कितने हवाई अड्डे हैं? उस प्रश्न का उत्तर देने के लिए, हमने असम में वर्तमान में चालू सभी हवाई अड्डों और 2023 के लिए योजना बनाई गई एक विस्तृत सूची तैयार की है।

असम में कितने अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे हैं?

गुवाहाटी, असम में स्थित लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा राज्य का एकमात्र अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है। इस हवाई अड्डे को भारत के उत्तर पूर्व क्षेत्र के प्राथमिक प्रवेश द्वार के रूप में सेवा देने के लिए बनाया गया था और यह भारत के सबसे व्यस्त हवाई अड्डों में से एक है। 

हवाई अड्डे का उद्घाटन 4 अप्रैल 2013 को प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह और केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री अजीत सिंह द्वारा किया गया था। इस हवाई अड्डे का नाम स्वतंत्रता सेनानी गोपीनाथ बोरदोलोई को समर्पित है, जिन्होंने 1946-50 तक असम के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया।

पूरी तरह से परिचालित इस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे में यात्रियों की सुविधा के लिए इमिग्रेशन काउंटर, शुल्क मुक्त दुकानें, फूड कोर्ट और एटीएम सहित विश्व स्तरीय सुविधाएं और सेवाएं हैं। यह एक्स-रे बैगेज स्क्रीनिंग मशीन जैसी उन्नत सुरक्षा प्रणालियां भी प्रदान करता है जो हर समय सुरक्षा सुनिश्चित करती हैं।

असम में कितने डोमेस्टिक एयरपोर्ट है?

भारत में उत्तर-पूर्वी राज्य असम कुछ सबसे खूबसूरत प्राकृतिक स्थलों और वन्य जीवन का घर है। यह छह घरेलू हवाई अड्डों का भी घर है जो यात्रियों और स्थानीय यात्रियों दोनों के लिए समान रूप से आसान पहुँच प्रदान करते हैं। 

  1. डिब्रूगढ़ हवाई अड्डा
  2. लीलाबारी हवाई अड्डा, उत्तरी लखीमपुर
  3. सिलचर हवाई अड्डा
  4. जोरहाट हवाई अड्डा
  5. रूपसी एयरपोर्ट, धुबरी
  6. तेजपुर एयरपोर्ट.

डिब्रूगढ़ हवाई अड्डा, उत्तरी लखीमपुर में लीलाबाड़ी हवाई अड्डा, सिलचर हवाई अड्डा, जोरहाट हवाई अड्डा, धुबरी में रूपसी हवाई अड्डा, और तेजपुर हवाई अड्डा सभी असम की सीमाओं के भीतर स्थित हैं।

प्रत्येक हवाईअड्डा पूरे भारत के विभिन्न शहरों के लिए उड़ानें प्रदान करता है। इन हवाई अड्डों से कुछ सबसे लोकप्रिय गंतव्यों में दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बैंगलोर शामिल हैं। असम से विदेश यात्रा करने वालों के लिए, डिब्रूगढ़ हवाई अड्डे से बैंकॉक के लिए ड्रक एयर द्वारा संचालित सीधी उड़ान है।

Assam Mein Kul Kitne Airport Hai?

  1. लोकप्रिया गोपीनाथ बोरदोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा,
  2. डिब्रूगढ़ हवाई अड्डा
  3. लीलाबारी हवाई अड्डा, उत्तरी लखीमपुर
  4. सिलचर हवाई अड्डा
  5. जोरहाट हवाई अड्डा
  6. रूपसी एयरपोर्ट, धुबरी
  7. तेजपुर एयरपोर्ट

असम भारत के सबसे खूबसूरत राज्यों में से एक है और इसकी प्राकृतिक सुंदरता दुनिया भर के पर्यटकों को अपनी ओर खींचती है। लेकिन इसके सुरम्य परिदृश्य के अलावा, असम में छह घरेलू हवाई अड्डे भी हैं।

असम का मुख्य हवाई अड्डा गुवाहाटी में लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है, जो राज्य के बाकी हिस्सों के प्रवेश द्वार के रूप में कार्य करता है। 

असम में स्थित अन्य घरेलू हवाई अड्डों में डिब्रूगढ़ हवाई अड्डा, लीलाबाड़ी हवाई अड्डा, सिलचर हवाई अड्डा, जोरहाट हवाई अड्डा, धुबरी में रूपसी हवाई अड्डा और तेजपुर वायु हैं।

इन सभी हवाई अड्डों पर दिल्ली, कोलकाता और बैंगलोर जैसे प्रमुख शहरों से नियमित उड़ानें हैं। ये हवाईअड्डे पर्यटकों और स्थानीय लोगों दोनों के लिए असम के भीतर यात्रा को आसान बनाने में मदद करते हैं।

Kitne Airport Hai? जरूर पढ़ें।

सस्ता हवाई टिकट कैसे लें? Online Air Ticket Booking, भारत में इंटरनेशनल और डोमेस्टिक एयरपोर्ट, राजस्थान, महाराष्ट्र, नागालैंड, मणिपुर, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात, सिक्कम, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पंजाब, कर्नाटक, मेघालय, उत्तराखंड, गोवा, हरियाणा, मिज़ोरम, अरुणाचल प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, केरल, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, उड़ीसा, त्रिपुरा.

Conclusion Points

अंत में, यह स्पष्ट है कि असम में हवाई अड्डों का एक अच्छी तरह से विकसित नेटवर्क है, जो राज्य के लोगों को घरेलू और अंतरराष्ट्रीय गंतव्यों तक अधिक पहुंच प्रदान करता है।

इसने हवाई मार्ग से यात्रा, व्यवसाय और अवकाश गतिविधियों के अधिक अवसरों की अनुमति दी है। जैसा कि राज्य का विकास और विकास जारी है, यह संभावना है कि ये हवाईअड्डे अपने नागरिकों के जीवन में लगातार बढ़ती भूमिका निभाएंगे।

इसके अतिरिक्त, यह पर्यटन के अवसरों के द्वार खोलता है क्योंकि आगंतुक अब आसानी से हवाई मार्ग से असम पहुंच सकते हैं। असम में कुल हवाई अड्डों की संख्या 7 है, जिसमें से एक अंतरराष्ट्रीय हैं और बाकी छह डोमेस्टिक हवाई अड्डे हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close