दिल्ली में कितने कुल एयरपोर्ट हैं 2023? डोमेस्टिक कौन सा है?

दिल्ली में कितने कुल एयरपोर्ट हैं? आइए इस प्रश्न का बिल्कुल सही उत्तर जानते हैं. दिल्ली एक हलचल भरा महानगरीय शहर और भारत की राजधानी है। इतनी बड़ी आबादी और यात्रियों की आमद के साथ, यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि इस शहर में कई हवाई अड्डों का होना उत्तरोत्तर महत्वपूर्ण होता जा रहा है। 

दिल्ली का अंतरराष्ट्रीय और डोमेस्टिक एयरपोर्ट

2023 तक, दिल्ली में कुल छह हवाई अड्डे होंगे, जिनमें से तीन केवल घरेलू उड़ानों के लिए संचालित होंगे। इस लेख में, हम दिल्ली में हवाई अड्डों की संख्या और घरेलू यात्रा के लिए निर्दिष्ट हवाई अड्डों पर चर्चा करेंगे।

दिल्ली में कुल कितने एयरपोर्ट है?

दिल्ली एक हलचल भरा महानगर और भारत की राजधानी है। यह दो प्रमुख हवाई अड्डों का घर है: इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा (IGI) और सफदरजंग हवाई अड्डा, दोनों ही देश के सभी हिस्सों के लिए सुविधाजनक पहुँच प्रदान करते हैं। 

आईजीआई हवाई अड्डा दुनिया भर के यात्रियों के लिए विश्व स्तरीय सुविधाओं और सेवाओं के साथ दिल्ली में प्रमुख अंतरराष्ट्रीय प्रवेश द्वार के रूप में कार्य करता है। हाल ही में 2019 में पुनर्निर्मित, यह हवाई अड्डा अपने आगंतुकों के लिए शीर्ष पायदान सुविधाएं प्रदान करता है।

सफदरजंग हवाई अड्डा दिल्ली के वाणिज्यिक केंद्र के करीब स्थित है और मुख्य रूप से भारत के भीतर घरेलू उड़ानें संचालित करता है। 

उपमहाद्वीप के अधिकांश शहरों से सीधी उड़ानें उपलब्ध होने के साथ, यह छोटा हवाई अड्डा भारत में घूमने का एक कुशल तरीका प्रदान करता है। आईजीआई की तुलना में अपने मामूली आकार के बावजूद, सफदरजंग हवाईअड्डा यात्रियों को उचित मूल्य पर एटीएम, शुल्क मुक्त दुकानें और फूड कोर्ट जैसी आधुनिक सुविधाएं भी प्रदान करता है।

दिल्ली के सबसे बड़े हवाई अड्डे का नाम क्या है?

इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा (IGIA) भारत की राजधानी, नई दिल्ली का सबसे बड़ा और व्यस्ततम हवाई अड्डा है। इसका नाम भारत की पूर्व प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी के नाम पर रखा गया है और यह देश के उत्तरी क्षेत्र के लिए एक प्रमुख अंतरराष्ट्रीय विमानन केंद्र के रूप में कार्य करता है।

2008 में अपनी शुरुआत के बाद से, IGIA ने दिल्ली से आने-जाने वाले हवाई यातायात में जबरदस्त वृद्धि देखी है। 2017-18 में, हवाई अड्डे ने 61 मिलियन से अधिक यात्रियों को संभाला और इसे दक्षिण एशिया के सबसे व्यस्त हवाई अड्डों में से एक बना दिया।

हवाई अड्डे में तीन टर्मिनल हैं जिनमें 80 से अधिक एयरलाइनें काम कर रही हैं जिनमें घरेलू बजट वाहक और प्रमुख अंतरराष्ट्रीय एयरलाइंस जैसे सिंगापुर एयरलाइंस, कैथे पैसिफ़िक और अमीरात शामिल हैं।

हर समय सुचारू संचालन सुनिश्चित करने के लिए, IGIA उन्नत तकनीकों को नियोजित करता है जैसे सामान छोड़ने के लिए चेहरे की पहचान प्रणाली, स्वचालित आव्रजन काउंटर और स्वयं चेक-इन कियोस्क जो यात्रियों के लिए प्रतीक्षा समय को कम करने में मदद करते हैं।

दिल्ली का डोमेस्टिक एयरपोर्ट कौन सा है?

सफदरजंग हवाई अड्डा, जो नई दिल्ली में स्थित है, भारतीय राजधानी शहर का घरेलू हवाई अड्डा है। यह दिल्ली और इसके आसपास के क्षेत्रों में आने वाले यात्रियों के लिए मुख्य प्रवेश द्वार के रूप में कार्य करता है।

यह हवाई अड्डा मुख्य रूप से भारत के भीतर घरेलू उड़ानें संचालित करता है, जो देश के विभिन्न हिस्सों को एक दूसरे से जोड़ता है।

सफदरजंग हवाई अड्डा शुरू में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान बनाया गया था और तब से यात्रियों की सेवा कर रहा है। यह भारत के सबसे पुराने हवाई अड्डों में से एक है और इसके साथ एक समृद्ध इतिहास जुड़ा हुआ है। 

हवाईअड्डा इससे संचालित होने वाली विभिन्न एयरलाइनों के लिए यात्री और कार्गो दोनों सेवाएं प्रदान करता है। टर्मिनल आधुनिक सुविधाओं के साथ सुव्यवस्थित हैं, जो यात्रियों को एक आरामदायक यात्रा अनुभव प्रदान करते हैं। इसके अलावा, हवाई अड्डे के पास कई रेस्तरां और दुकानें स्थित हैं जो आपकी उड़ान यात्रा से पहले या बाद में स्वादिष्ट भोजन विकल्प प्रदान करती हैं।

Kitne Airport Hai? जरूर पढ़ें।

सस्ता हवाई टिकट कैसे लें? Online Air Ticket Booking, भारत में इंटरनेशनल और डोमेस्टिक एयरपोर्ट, राजस्थान, महाराष्ट्र, नागालैंडपश्चिम बंगाल, असम, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात, सिक्कम, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पंजाब, कर्नाटक, मेघालय, उत्तराखंड, गोवा, हरियाणा, मिज़ोरम, अरुणाचल प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, केरल, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, उड़ीसा, त्रिपुरा, तेलंगाना.

Conclusion Points 

अंत में, इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा और सफदरजंग हवाई अड्डा दिल्ली में दो प्रमुख हवाई अड्डे बनाते हैं। प्रत्येक हवाई अड्डा शहर और इसके आसपास के क्षेत्रों तक आसान पहुँच प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। 

अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा दिल्ली को शेष दुनिया से जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता रहा है, जबकि सफदरजंग हवाई अड्डा मुख्य रूप से घरेलू यात्रियों की सेवा करता है। 

इस तरह, दोनों हवाई टर्मिनल व्यापार और अवकाश यात्रा के लिए आवश्यक हैं, जो उन्हें दिल्ली के बुनियादी ढांचे का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बनाते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close